WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.15 PM
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM (1)
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM (2)
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.17 PM (1)
IMG_20240301_142817
IMG_20240301_142817
IMG_20240301_142817
previous arrow
next arrow
उत्तरप्रदेश

हरदोई में बोले पीएम मोदी- यूपी में त्योहार मनाने से रोकने वालों को दस मार्च को मिलेगा जवाब 

हरदोई, भाजपा प्रत्याशियों के जनसमर्थन रैली के लिए हरदोई पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सपा और बसपा सहित अन्य विपक्षी पार्टियों पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा, यूपी में त्योहार को मनाने से रोकने वालों को दस मार्च को जनता जवाब देगी। बोले, त्योहार के पहले कर्फ्यू लग जाता था, जिससे यहां की जनता अपन त्योहार न मना पाए। योगी सरकार ने लोगों को उनका अधिकार दिलाया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, आप याद करिए पांच साल पहले माफिया वादियों ने यूपी का क्या हाल बना दिया था, व्यापारियों को व्यापार करने में डर लगता था। राहजनी, छीनेती, लूट आम बात हो गई थी। दीया बरे घर लौट आओ, हरदोई वालों ने वह दिन देखें हैं। कैसे लोगों ने कट्टा और सट्टा वालों को खुली छूट दे रखी थी। हमारी माताएं परेशान रहती थीं कि बेटे-बेटी घर से निकले हैं वह शाम को सुरक्षित घर लौट आएं। काेई दुर्घटना न हो जाए। अपराधियों का पूरा संरक्षण होता था। हरदोई की जनता जानती है कि कैसे इनका हिसाब हो रहा था। पीएम मोदी ने कहा, 2014 सेलेकर 2017 के बीच यूपी में इन परिवारवादियों ने एक भी काम में मेरा साथ नहीं दिया। मुझे बताइए यूपी का मैं सांसद हूं यूपी में कोई काम नहीं करने दिया। ऐसे लोगों को फिर से लाओगे तो मुझे काम करने देंगे क्या। आपका भला करने देंगे क्या, माताओं बहनों की सेवा करने देंगे क्या?

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि सपा की सरकार में शौचालय बने 34 हजार, और योगी जी के आने के बाद पांच लाख शौचालय बने। यह पैसा कहां जाता था। इसके अलावा योगी जी की सरकार आई तो पूरे प्रदेश में गैस सिलिंडर दिए। अभियान चलाकर हर घर गरीब के घर तक बिजली पहुंचाया। नए बिजली कनेक्शन दिए। लूटमार पर पूरी तरह से लगाम लगाया। ये बातें आपको यात रखनी होंगी। मोदी ने आगे कहा, आपके गांव में कितने घंटे बिजली आती थी। मुझे बराबर याद है यूपी में बिजली अगर आती तो खबर बन जाती थी। एक जमाने में, बिजली का जाना स्वाभाविक था। मेहमान की तरह बिजली आती थी। एक बार अगर ट्रांसफार्मर जल गया तो कितने महीने लग जाते थे और कितने बाबुओं के पैर पकड़ने पडते थे। कितना प्रसाद चढ़ाना पड़ता था। यह घोर परिवारवादी आपकों बिजली नहीं बिजली का झटका देने को तैयार हैं। जिनके काले कारमाने अंधेरे में चलते थे व अंधेरे का झटका देने को तैयार हैं।

Related Articles

Back to top button