WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.15 PM
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM (1)
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM (2)
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.17 PM (1)
IMG_20240301_142817
IMG_20240301_142817
IMG_20240301_142817
previous arrow
next arrow
अंतरराष्ट्रीयदेश-विदेश

किस्सा 18 करोड़ के नेकलेस का: इमरान के मंत्री ज्वेलरी शोरूम पर बेच आए हार, सरकारी गिफ्ट बेगम बुशरा-दोस्त फराह ने बांट लिए

पाकिस्तान में इमरान अब पूर्व प्रधानमंत्री हो गए हैं। सरकार जा चुकी है। सरकार गई तो करप्शन के मामले सामने आने लगे। पाकिस्तान सरकार की सबसे बड़ी जांच एजेंसी FIA (फेडरल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी) एक डायमंड नेकलेस की तलाश कर रही है। इसकी कीमत 18 करोड़ पाकिस्तानी रुपए है और इसे लाहौर के एक मशहूर ज्वेलर को बेचा गया था। इमरान के एक मंत्री इसे बेचने गए थे। इसके सबूत मिल चुके हैं।

खास बात यह है कि यह नेकलस या हार इमरान को एक खाड़ी देश के रूलर ने गिफ्ट किया था। इमरान की पत्नी बुशरा ने इसे बेचने के लिए दिया। कुछ और गिफ्ट बुशरा और उनकी दोस्त फराह शहजादी ने रख लिए। चलिए इस रोचक मामले को समझते हैं।

शुरुआत कहां से हुई?
शुरुआत पिछले साल हुई। इमरान खाड़ी देशों के दौरे पर गए। लौटते वक्त वहां के किसी शाही परिवार ने उन्हें बतौर यादगार कुछ गिफ्ट्स दिए। इनमें एक डायमंड नेकलेस भी था। नियम तो यह है कि इमरान को यह नेकलेस तोशाखाना (ट्रेजरी) में जमा कराना था। पाकिस्तान के सीनियर जर्नलिस्ट जफर नकवी कहते हैं- इमरान की शरीक-ए-हयात (पत्नी) बुशरा बीबी का इस नेकलेस पर दिल आ गया। उन्होंने इसे सरकारी खजाने में जमा कराने की बजाय अपने पास रख लिया।

फोटो 17 फरवरी 2019 की है। तब सऊदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान यानी MBS पाकिस्तान दौरे पर आए थे। इमरान की मेहमान नवाजी का आलम ये था कि खुद प्रिंस को न सिर्फ रिसीव करने पहुंचे, बल्कि कार भी खुद ही ड्राइव की।

आगे क्या हुआ?
पाकिस्तान के ही एक और सीनियर जर्नलिस्ट मुबाशिर लुकमान भी इस मामले की पुष्टि करते हैं। उनके मुताबिक पता नहीं क्यों, लेकिन बुशरा बीबी ने इस नेकलेस को पहनने की बजाय बेचना मुनासिब समझा। इमरान के दाएं हाथ कहे जाने वाले मंत्री और उनके करीबी दोस्त जुल्फी बुखारी को बुलाया और इसे बेचने को कहा।

बुखारी लाहौर के जामिया रोड पहुंचे। यहां मुल्क का एक मशहूर ज्वेलरी शोरूम है। बुखारी ने इसे 18 करोड़ पाकिस्तानी रुपए में बेचा और रकम मोहतरमा बुशरा बेगम के हवाले कर दी। किसी तरह यह बात लीक हो गई।

FIA को बड़ी कामयाबी
नकवी के मुताबिक FIA को भनक लगी तो उसने इमरान सरकार के गिरने के पहले ही इसकी गुपचुप जांच शुरू की। जांच में कोई अड़ंगा न लगे, इसलिए ISI को भी इसकी जानकारी दी। लाहौर के उस ज्वेलरी शोरूम के मालिक और मैनेजर को उठा लिया गया। उनसे पूछताछ की गई तो सच सामने आ गया। साफ हो गया कि जुल्फी बुखारी ने ही वो डायमंड नेकलेस बेचा था।

शोरूम में बुखारी की मौजूदगी के CCTV फुटेज भी मिल गए। नेकलेस बरामद करके उसे तोशाखाना में जमा करा दिया गया है। अब बुशरा बीबी और बुखारी पर केस दर्ज होगा। जांच की आंच इमरान खान तक भी पहुंचेगी। इस मामले में सबसे बड़ी हमराज बुशरा की दोस्त फराह खान या फराह शहजादी हैं। वो मुल्क छोड़कर दुबई के रास्ते अमेरिका पहुंच चुकी हैं।

मुबाशिर लुकमान कहते हैं- मामला सिर्फ इस नेकलेस का नहीं है। पिछले साल सऊदी प्रिंस से मिले झुमके और करोड़ों की घड़ी बेचकर भी इमरान ने मुल्क को शर्मनाक हालात में पहुंचा दिया था। खास बात यह है कि सऊदी प्रिंस को ज्वेलर ने ही इमरान की करतूत बता दी थी।

ये इमरान के बेस्ट मिनिस्टर जुल्फी बुखारी हैं। उनका यह फोटो पिछले दिनों वायरल हुआ था। बुखारी ब्रिटिश नागरिक भी हैं। इमरान की पूर्व पत्नी रेहम खान ने जुल्फी पर गंभीर आरोप लगाए थे। अब नेकलेस केस में बुखारी FIA के रडार पर हैं। जल्द गिरफ्तारी मुमकिन है।

खबरें और भी हैं…

Related Articles

Back to top button