WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.15 PM
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM (1)
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM (2)
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.17 PM (1)
IMG_20240301_142817
IMG_20240301_142817
IMG_20240301_142817
previous arrow
next arrow
उत्तरप्रदेश

परसपुर : बहनों ने भाई के कलाई पर बांधा रक्षा सूत्र

गोंडा : परसपुर क्षेत्र में रक्षाबंधन पर्व को लेकर चारों तरफ धूम रही है । बाजार में सजी राखी की दुकानों पर बहनों ने पहुंचकर राखियाँ , मिठाइयां व कपड़ो की खरीददारी किया इस वर्ष सावन पूर्णिमा तिथि 11 और 12 अगस्त 2 दिन है भद्रा लगने के कारण राखी का त्योहार दो दिन तक मनाया जायेगा जिसकी वजह से लोगों के मन में कई सवाल है कि आखिर रक्षाबंधन किस दिन मनाया जाए। दरअसल रक्षाबंधन सावन पूर्णिमा पर भद्रा रहित काल में मनाया जाता है यह त्यौहार भाई-बहन के पवित्र रिश्ते , स्नेह और प्यार का प्रतीक है इस दिन बहनें अपने भाइयों की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधती हैं। लेकिन इस सावन पूर्णिमा पर पूरे दिन भद्रा काल का साया रहेगा पंडित शिव शंकर चतुर्वेदी का कहना है कि पंचांग के अनुसार इस वर्ष सावन महीने की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा 11 अगस्त को सुबह 10:00 बजकर 38 मिनट से शुरू होगी और 12 अगस्त दिन शुक्रवार को सुबह 7:05 तक रहेगी। रक्षाबंधन का त्यौहार 11 अगस्त को ही मनाया जाने वाला है। मुहूर्त गणना के अनुसार 11 अगस्त पर सुबह 11 बजकर 37 मिनट से 12:29 तक अभिजीत मुहूर्त रहेगा जो शास्त्रों के अनुसार सबसे अच्छा और शुभ मुहूर्त माना जाता है इसके अलावा 11 अगस्त गुरुवार को दोपहर दो बजकर 14 मिनट से 3:07 पर विजय मुहूर्त रहेगा। इन दोनो मुहूर्तों में राखी बांधने की प्रक्रिया शुभ है।

Related Articles

Back to top button