WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.15 PM
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM (1)
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM (2)
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.17 PM (1)
IMG_20240301_142817
IMG_20240301_142817
IMG_20240301_142817
previous arrow
next arrow
GONDAउत्तरप्रदेशकरनैलगंज परसपुर
Trending

गोंडा : सूकरखेत पसका में जादू, झूला, मौत कुंआ सर्कस मनोरंजन देखने के लिए उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

परसपुर ( पसका ) गोंडा : परसपुर क्षेत्र के पसका सूकरखेत में त्रिमुहानी तट पर गुरुवार को पौष पूर्णिमा स्नान को लेकर सरयू संगम में लाखों श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगाई। गुरुवार की सुबह सुबह कड़क ठंडक होने के चलते मेलार्थियों की भीड़ बढ़ने लगी। और मौसम खुलते ही मेलार्थियों का तांता लग गया। आसपास क्षेत्र व गैर जनपदों से आये हुए श्रद्धालुओं ने सरयू संगम में स्नान ध्यान व पूजा पाठ किया। जिसके बाद श्रद्धालुओं ने भगवान वाराह के मंदिर, गुरु नर हरि आश्रम में पहुँचकर प्रसाद चढ़ावा, दर्शन परिक्रमा किया।

गुरुवार की सुबह ब्रह्ममुहूर्त की बेला में कल्पवास कर रहे साधु संतों ने सरयू संगम में आस्था की डुबकी लगाई। जिसके बाद स्नान में श्रद्धालुओं की काफी भीड़ उमड़ी। भक्तों ने त्रिमुहानी तट पर स्नान- ध्यान, पूजा पाठ, कथा भंडारा आयोजित किया। दूरदराज इलाकों से आए श्रद्धालुओं ने सत्य नारायण व्रत कथा सुनकर भंडारा व प्रसाद वितरण किया। मेले में पसका विकास मंच के तत्वावधान में धार्मिक व सांस्कृतिक आयोजित किया गया। वहीं सनातन धर्म परिषद् तथा सूकरखेत विकास समिति के तत्वावधान एवं डॉक्टर स्वामी भगवदाचार्य के अगुवाई में 42 वां रामायण मेला आयोजित किया गया।

करनैलगंज उपजिलाधिकारी विशाल कुमार ने पसका मेला पहुंच कर मेला व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान शांति सुरक्षा के दृष्टिगत भरपूर पुलिस बल की तैनाती रही है। मेला में आई दुकानों पर मेलार्थियों ने वस्तुओं की खरीददारी की और चाट व्यंजन का स्वाद चखा।

नया मेला परिसर में मौत कुंवा सर्कस, नृत्य कला, जादूगर, इलेक्ट्रिक झूला, सुपर ड्रैगन ट्रेन झूला, शिव शक्ति ब्रेक डांस, स्टूडियो, होटल आदि मुख्य आकर्षण के केन्द्र रहे हैं। जहाँ वाराह भगवान मंदिर, गुरु नर हरि आश्रम, त्रिमुहानी तट, पीपल चौराहा, नया मेला परिसर आदि जगहों पर मेलार्थियों की काफी भीड़ रही है।

Related Articles

Back to top button