WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.15 PM
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM (1)
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM (2)
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.17 PM (1)
IMG_20240301_142817
IMG_20240301_142817
IMG_20240301_142817
previous arrow
next arrow
देश-विदेशराजनेतिक
Trending

ईडी के छापे पर आग बबूला कांग्रेस।

कहा आप हमें चुप नहीं करा सकते।

कांग्रेस के स्वामित्व वाले नेशनल हेराल्ड अखबार के मुख्यालय और अन्य स्थानों पर प्रवर्तन निदेशालय की छापेमारी पर विपक्षी दल कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

विपक्ष ने इस कार्रवाई को प्रतिशोध की राजनीति बताते हुए इसकी निंदा की। कार्ति चिदंबरम ने इसे ईडी सामूहिक विनाश का हथियार बताया। वहीं सत्तारूढ़ भाजपा ने कहा कि कानून अपना करेगा। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से पूछताछ के एक हफ्ते बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मनी लॉन्ड्रिंग जांच के तहत नेशनल हेराल्ड अखबार के मुख्यालय और 11 अन्य स्थानों पर छापेमारी की। अधिकारियों ने कहा कि धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) की आपराधिक धाराओं के तहत अतिरिक्त सबूत इकट्ठा करने के लिए और नेशनल हेराल्ड से जुड़े लेनदेन में शामिल संस्थाओं के खिलाफ तलाशी ली गई थी।

जयराम रमेश बोले, आप हमें चुप नहीं करवा सकते
कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि हेराल्ड हाउस, बहादुर शाह जफर मार्ग पर छापे भारत के प्रमुख विपक्षी पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के खिलाफ जारी हमले का एक हिस्सा है। हम मोदी सरकार के खिलाफ बोलने वालों के खिलाफ इस प्रतिशोध की राजनीति की कड़ी निंदा करते हैं। आप हमें चुप नहीं करा सकते। रमेश के आरोप पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने पूछा कि क्या इस मामले में अदालतों द्वारा गांधी परिवार को किसी भी राहत से इनकार करना भी प्रतिशोध था। भाजपा महासचिव सी टी रवि ने भी रमेश के आरोप का जवाब देते हुए कहा कि कांग्रेस के बारे में कुछ भी भारतीय या राष्ट्रीय नहीं है।

भाजपा ने कहा, कानून अपना काम करेगा रवि ने कहा, भ्रष्ट सोनिया गांधी और उनके बेटे राहुल गांधी को ईडी की कार्रवाई का सामना करना पड़ रहा है, क्योंकि उन्होंने नेशनल हेराल्ड मामले में कांग्रेस को लूटा है। गुलाम इसे प्रतिशोध कह सकते हैं, लेकिन कानून अपना काम करेगा। कांग्रेस पार्टी की प्रेस कॉन्फ्रेंस में पार्टी प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि नेशनल हेराल्ड पर छापेमारी महंगाई और बेरोजगारी से ध्यान हटाने की एक चाल है। स्वतंत्र भारत में शायद कोई अन्य सरकारी और कोई अन्य जगह नहीं है, जहां राजनीति इतनी गिर गई हो। छोटे निजी दुश्मनी को निपटाने के लिए, भारत के विपक्ष को डराने के लिए, मोदी सरकार ठीक वही कर रही है जो अंग्रेजों ने स्वतंत्रता संग्राम के दौरान किया था। स्वतंत्रता संग्राम के दौरान अंग्रेजों ने नेशनल हेराल्ड पर छापा मारा था और इसे प्रतिबंधित कर दिया था, ठीक यही मोदी सरकार भी कर रही है।

कांग्रेस का सवाल, क्या ईडी अक्षम है ?
उन्होंने आरोप लगाया, आपने कांग्रेस अध्यक्ष से तीन दिनों तक पूछताछ की है, आपने 50 घंटे तक कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष से पूछताछ की है। या तो ईडी पूरी तरह से अक्षम है और पर्याप्त सबूत इकट्ठा करने में सक्षम नहीं है या ईडी वास्तव में चुनाव विभाग बन गया है। आज की वास्तविकता यह है कि इस देश में केवल दो मुद्दे मायने रखते हैं – मूल्य वृद्धि और बेरोजगारी और सरकार चाहे कितनी भी कोशिश कर ले कांग्रेस इन प्रासंगिक मुद्दों को उठाना जारी रखेगी। हो सकता है कि कुछ लोग आपकी एजेंसियों से डरते हों, लेकिन भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस निश्चित रूप से उनमें से एक नहीं है। हम इसकी निंदा करते हैं, हम इससे लड़ेंगे। हम इस सरकार की विफलताओं को उजागर करना जारी रखेंगे क्योंकि बेरोजगारी के कारण हमारे युवाओं का भविष्य दांव पर है और हर भारतीय महंगाई और पीड़ित है।

कार्ति बोले, ईडी सामूहिक विनाश का हथियार
कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम ने दावा किया कि ईडी सामूहिक विनाश का हथियार बन गया है और इसे सरकार की “हैचेट एजेंसी” के रूप में जाना जाएगा। उन्होंने ईडी की छापेमारी को लेकर भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए यह टिप्पणी की। ईडी की तुलना पूर्वी जर्मनी के स्टासी और नाजी जर्मनी के शुट्जस्टाफेल से करते हुए चिदंबरम ने कहा कि द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान स्टासी का इस्तेमाल पूर्वी जर्मनी के लिए हैचेट एजेंसी के रूप में और नाजी जर्मनी द्वारा शुट्जस्टाफेल द्वारा किया गया था। जब इस देश का इतिहास लिखा जाएगा, तो ईडी भाजपा की कुटिल एजेंसी के रूप में जानी जाएगी।

Related Articles

Back to top button