WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.15 PM
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM (1)
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM (2)
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.17 PM (1)
IMG_20240301_142817
IMG_20240301_142817
IMG_20240301_142817
previous arrow
next arrow
Internationalदेश-विदेश
Trending

चीनी मिसाइलें हमारी सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा: प्रधानमंत्री ताइवान(Fumio Kishida)

Japan PM on Chinese Missiles: जापान (Japan) के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा ने युद्धाभ्यास (PLA War Drill) के दौरान बैलिस्टक मिसाइलों (Ballistic Missiles) को फायर करने पर चीन (China) की निंदा की है. चीन ताइवान के आसपास के समंदर और आसमान में युद्धाभ्यास कर रहा है. टोक्यो (Tokyo) को लगता है कि पांच मिसाइले उसके इकोनॉमिक जोन (Tokyo Economic Zone) में गिरी हैं. इस पर जापान के पीएम फुमियो किशिदा ने कहा, यह एक गंभीर समस्या है जो हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा और हमारे लोगों की सुरक्षा को प्रभावित करती है.”
जापान के रक्षा मंत्रालय ने मिसाइल हमले की एक तस्वीर भी साझा की है. रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि गुरुवार को चीनी सेना ने फुजियान प्रांत के तट से कई मिसाइलें दागी, जिनमें से पांच जापान के इलाके में गिरीं. चीनी सेना द्वारा दागी मिसाइलों की संख्या 9 से लेकर 11 तक बताई जा रही है. जापान की ओर से यह भी कहा गया है कि वह चीनी हरकत पर निगरानी रख रहा है.

इसलिए जापान से नाराज है चीन
बता दें कि जापान जी-7 समूह का हिस्सा है. जी-7 ने ताइवान के आसपास चीन की आक्रामक वॉर ड्रिल की निंदा की है. निंदा से आहत चीन ने अपने और जापाने विदेश मंत्रियों के बीच होने वाली द्विपक्षीय वार्ता रद्द कर दी है. वहीं, अमेरिकी हाउस स्पीकर नैंसी पेलोसी से चीनी चिढ़ा बैठा है, इसके बावजूद जापान ने पेलोसी की मेजबानी की. पेलोसी ने जापान के प्रधानमंत्री किशिदा से मुलाकात करने के बाद आज टोक्यो से एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की और चीन के खिलाफ तल्ख तेवर दिखाए. पेलोसी ने यहां तक कह दिया कि चीन ताइवान को अलग-थलग करे, अमेरिका इसकी इजाजत नहीं देगा. वहीं, चीन ने फिलहाल व्यक्तिगत तौर पर जापान को लेकर कोई टिप्पणी नहीं की है लेकिन उसने जी-7 समूह को जरूर कोसा है.

Related Articles

Back to top button