WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.15 PM
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM (1)
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM (2)
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.17 PM (1)
IMG_20240301_142817
IMG_20240301_142817
IMG_20240301_142817
previous arrow
next arrow
उत्तर प्रदेश

पूरे विश्व को 500 करोड़ वैक्सीन डोज देने को तैयार -भारत

दुनिया के मजबूत अर्थव्यवस्था वाले 20 देशों के प्रमुखों की बहुप्रतीक्षित जी-20 बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया को वह भरोसा दिलाया है जिसकी क्षमता आज की तारीख में सिर्फ भारत के पास ही है कोरोनावायरस से कराहती दुनिया वैक्सीन का इंतजार कर रही थी मोदी ने कहा है कि भारत अगले वर्ष तक 500 करोड़ वैक्सीन डोज का उत्पादन करने के लिए तैयार है जिस का एक बड़ा हिस्सा दूसरे देशों को दिया जाएगा पीएम मोदी ने भारत की तरफ से पूरी दुनिया के लिए एक स्वास्थ्य नियम यानी” वन अर्थ वन हेल्थ ” के मंत्र को भी बेहद महत्वपूर्ण बताया और कहा कि एक दूसरे की मदद किए बगैर आने वाली महामारियो का सामना कर पाना सभी देशों के लिए मुश्किल होगा इसलिए समग्र नीति बनानी होगी वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन जैसी एजेंसियों से भारत जैसे देशों में निर्मित वैक्सीन को जल्दी मान्यता देने का भी आग्रह किया गया और भारत के योगदान को भी बताया भारत 100 करोड़ वैक्सीन अपने नागरिकों को दे चुका है और अगले वर्ष के अंत तक 500 करोड़ वैक्सीन बनाने की दिशा में कार्य चल रहा है कोरोनावायरस ने डेढ़ सौ देशों को दवाइयों के साथ कई तरह के वैक्सीन मुहैया कराई और क्लोरो क्वीन /रेनीडेसमीर से लेकर सारी दवाइयों को विदेशों में भेजा पीएम ने यह भी कहा कि वैश्विक supply-chain में बदलाव की जरूरत को भी रेखांकित किया और कहा सहयोग के लिए भारत तैयार है भारत के आईटी सेक्टर ने कोरोनावायरस आया है कि अड़चनों के बावजूद वह सेवा देने में भली-भांति सक्षम है और हर तरह से सेवा कर पाने में अपने आप को प्रस्तुत कर सकते हैं कोरोनावायरस है इटली के रोम स्थित वेटिकन सिटी में कैथोलिक ईसाइयों के सर्वोच्च धर्मगुरु पोप फ्रांसिस से भी शनिवार को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने मुलाकात मुलाकात किया करीब 1 घंटे चली मुलाकात में पर्यावरण सुरक्षा कोरोनावायरस से लड़ाई और गरीबी उन्मूलन पर खास तौर पर चर्चा की गई जिस पर धर्म गुरु और प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के बीच सहमत बनी इस शिखर सम्मेलन में भारत के अलावा अमेरिकी राष्ट्रपति जो वाइडन ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन समेत तुर्की इटली सऊदी अरब इंडोनेशिया फ्रांस जर्मनी मेक्सिको रूस और ब्राज़ील ऑस्ट्रेलिया जापान कनाडा इंडोनेशिया फ्रांस जर्मनी मैक्स मेक्सिको समेत सभी शीर्ष नेता शामिल हुए चीन और रूस के राष्ट्रपतियों ने वर्चुअल तरीके से हिस्सा लिया लिया

Related Articles

Back to top button