WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.15 PM
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM (1)
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM (2)
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.16 PM
WhatsApp Image 2024-01-08 at 6.55.17 PM (1)
IMG_20240301_142817
IMG_20240301_142817
IMG_20240301_142817
previous arrow
next arrow
उत्तर प्रदेशउत्तरप्रदेशराष्ट्रीयलखनऊ
Trending

उत्तर प्रदेश राज्य में सातवें चरण में 56 % मतदान हुआ आजमगढ़ फिसड्डी तो चंदौली प्रथम श्रेणी में पास


लखनऊ, राज्य ब्यूरो। विधान सभा चुनाव के सातवें व अंतिम चरण में नौ जिलों की 54 सीटों के लिए सोमवार को 56.77 प्रतिशत वोट डाले गए। मतदान के मामले में चंदौली जिला फर्स्ट डिवीजन में पास हुआ है।
यहां करीब 62 प्रतिशत मतदान हुआ है। आजमगढ़ जिला वोट डालने के मामले में सबसे फिसड्डी साबित हुआ। यहां 53.82 प्रतिशत मतदान हुआ। विधान सभा सीटों में सबसे अधिक मतदान चंदौली जिले की चकिया में 65.55 प्रतिशत हुआ। सबसे कम मतदान आजमगढ़ की निजामाबाद सीट पर 48.60 प्रतिशत हुआ।
छिटपुट शिकायतों को छोड़कर अंतिम चरण का भी मतदान शांति पूर्ण रहा। इसके साथ ही 75 महिला सहित 613 प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में बंद हो गई है। सातवें चरण में आजमगढ़, मऊ, जौनपुर, गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, मीरजापुर, भदोही व सोनभद्र जिले में मतदान हुआ। चुनाव आयोग ने निष्पक्ष एवं भयमुक्त मतदान के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए थे। केंद्रीय बलों की मौजूदगी के बीच मतदान सुबह सात बजे से शुरू हुआ। पहले दो घंटे में यानी सुबह नौ बजे तक 8.58 प्रतिशत ही मतदान हुआ। दिन में 11 बजे तक मतदान 21.55 प्रतिशत वोट पड़े। इसके बाद मतदान में तेजी आई और दिन में दोपहर एक बजे तक 35.51 प्रतिशत मत पड़ चुके थे। शाम पांच बजे मतदान 54.18 प्रतिशत हो गया था।
शाम छह बजे वोट डालने का समय था किंतु कई जिलों के पोलिंग बूथों पर लंबी कतारें होने के कारण मतदान देर तक चलता रहा। मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने बताया कि सोमवार को 12,210 मतदान केंद्रों के 21,614 पोलिंग बूथों पर वोट डाले गए। इनमें से 548 आदर्श मतदान केंद्र थे जबकि 81 पिंक बूथ बनाए गए थे, जिनमें सिर्फ महिला कर्मचारियों की तैनाती की गई थी। दिव्यांग मतदाताओं के लिए जिलों में व्हील चेयर और जगह-जगह पर वालंटियर की व्यवस्था भी की गई थी।
निष्पक्ष, भयमुक्त और शांतिपूर्वक मतदान संपन्न कराने के लिए केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की 845 कंपनियां तैनात की गई थी। चुनाव प्रक्रिया पर नजर रखने के लिए आयोग ने एक वरिष्ठ सामान्य प्रेक्षक, एक वरिष्ठ पुलिस प्रेक्षक व दो वरिष्ठ व्यय प्रेक्षक भी तैनात किए थे। इसके अलावा 52 सामान्य प्रेक्षक, 09 पुलिस प्रेक्षक व 17 व्यय प्रेक्षक पहले से तैनात थे। चुनाव के लिए कुल 1,04,058 कर्मियों को लगाया गया था।
आचार संहिता उल्लंघन की दर्ज हुईं 383 शिकायतेंः सातवें चरण में आदर्श आचार संहिता उल्लंघन की कुल 383 शिकायतें दर्ज हुईं हैं। इनमें 290 शिकायतें मोबाइल एप सी-विजिल पर सीधे प्रदेशवासियों ने दर्ज कराई हैं। जांच के दौरान 108 शिकायतें सही पाई गईं हैं, इन पर कार्रवाई की गई है। वहीं, फ्लाइंग स्क्वायड, स्टैटिक सर्विलांस टीम एवं अन्य ने 93 शिकायतें आचार संहिता उल्लंघन की दर्ज कराई हैं।
पोस्टल बैलट से 62750 मतदाताओं ने दिया वोटः अंतिम चरण में 62750 मतदाताओं ने पोस्टल बैलट से अपने वोट डाले। कुल चार श्रेणियों 80 वर्ष से अधिक आयु, दिव्यांगजन, अनिवार्य सेवाएं एवं मतदान कर्मियों को कुल 74988 पोस्टल बैलट दिए गए थे। इसके अलावा 51028 सेवा मतदाताओं को इलेक्ट्रानिक माध्यम से पोस्टल बैलट भी भेजा जा चुका है।
करीब डेढ़ प्रतिशत बदली गईं ईवीएमः इस चरण में करीब डेढ़ प्रतिशत ईवीएम खराब हुईं हैं। सुबह माकड्रिल के समय 0.48 प्रतिशत बैलट यूनिट, 0.55 प्रतिशत कंट्रोल यूनिट व 1.13 प्रतिशत वीवीपैट खराबी आने के कारण बदली गईं। इसके बाद मतदान के दौरान भी 0.30 प्रतिशत बैलट व 0.26 प्रतिशत कंट्रोल यूनिट बदली गईं। इसी प्रकार वीवीपैट भी 1.16 प्रतिशत बदली गईं हैं।
सात मंत्रियों सहित कई दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव परः योगी सरकार के सात मंत्रियों सहित कई दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर है। इनमें वाराणसी की शिवपुर सीट से पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री अनिल राजभर, वाराणसी उत्तर से स्टांप एवं पंजीयन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रवींद्र जायसवाल, वाराणसी दक्षिण से पर्यटन एवं संस्कृति राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) नीलकंठ तिवारी, जौनपुर से आवास एवं शहरी नियोजन राज्य मंत्री गिरीश यादव, मीरजापुर की मडि़हान सीट से ऊर्जा राज्य मंत्री रमाशंकर सिंह पटेल, सोनभद्र की ओबरा से समाज कल्याण राज्य मंत्री संजीव गोंड और गाजीपुर सदर सीट से सहकारिता राज्य मंत्री संगीता बलवंत शामिल हैं।
अंतिम चरण में राजनीति के जो दिग्गज मैदान में हैं उनमें सपा के दुर्गा प्रसाद यादव आजमगढ़ तो योगी मंत्रिमंडल से त्यागपत्र देकर सपा में शामिल हुए दारा सिंह चौहान घोसी से चुनाव लड़ रहे हैं। आजमगढ़ की फूलपुर पवई से पूर्व सांसद रमाकांत यादव सपा से, शाहगंज से शैलेंद्र यादव ललई व निजामाबाद से आलमबदी आजमी, जौनपुर की केराकत सीट से बतौर सपा उम्मीदवार पूर्व सांसद तूफानी सरोज व जफराबाद सीट से सुभासपा प्रत्याशी जगदीश नारायण राय चुनाव लड़ रहे हैं। बाहुबली विजय मिश्रा भदोही की ज्ञानपुर से प्रगतिशील मानव समाज पार्टी, धनंजय सिंह जौनपुर की मल्हनी से जदयू, सुशील सिंह चंदौली की सैयदराजा सीट से भाजपा और मुख्तार अंसारी के पुत्र अब्बास अंसारी मऊ सीट से चुनाव मैदान में हैं।
किस जिले में कितने प्रतिशत मतदान
जिला वर्ष 2017 वर्ष 2022 (रात नौ बजे तक)

आजमगढ़ 56.00 53.82

भदोही 57.67 56.90

चंदौली 63.01 61.99

गाजीपुर 59.81 56.54

जौनपुर 58.48 56.17

मऊ 58.62 57.02

मीरजापुर 62.87 54.93

सोनभद्र 61.18 58.69

वाराणसी 61.62 58.80

Related Articles

Back to top button